Search

मंडल कारा में ब्याप्त कुव्यवस्था को लेकर बंदियों द्वारा अनशन जारी

आशीष सिंह की रिपोर्ट——– सहरसा मंडल कारा में व्याप्त कुव्यवस्था के खिलाफ बीते दो दिनों से जारी अनशन को समर्थन देने वाले बंदियों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है. पूर्व मुखिया अनिल यादव के नेतृत्व में हो रहे अनशन को जेल में बंद 22 बंदी पूर्व से समर्थन दे रहे थे. गुरुवार को भी कारा में बंद 51 बंदियों ने जिलाधिकारी के नाम पत्र प्रेषित कर अनशन को समर्थन देने की घोषणा की है. अनशन के बाबत बंदियों द्वारा मुख्यमंत्री, मानवाधिकार आयोग, कारा महानिरीक्षक, जिला जज को अवगत कराया जा चुका है.
गौरतलब है की बंदियों द्वारा अनशन के जरिये आरोप लगाया है कि कारा अस्पताल में मरीज की जगह दबंग बंदियों का कब्जा बना हुआ है. इसकी जांच कर बंदी मरीजों के हित में काम किया जाए. मंडल कारा के पुस्तकालय का सही तरीके से संचालन हो ताकि बंदियों को पढ़ने के लिए किताबें मिल सके. जेल के अंदर कानून व्यवस्था को बहाल करने की मांग की गयी है. बंदियों ने कहा कि दबंग बंदी जेल के अंदर कमजोर लोगों का शोषण करते हैं.
आमरण अनशन पर बैठे बंदियों की शिकायत है कि मंडल कारा के गेट के अंदर मुलाकाती को लेकर कई बार बंदी व जेल प्रशासन के बीच विवाद की वजह से पगली घंटी बजाने तक की नौबत आ जाती है. इसलिए इस समस्या का समाधान जेल प्रशासन को निकालना चाहिए. समर्थन देने वालों में सुनील यादव, नारायण साह, भोला कुमार, राजेंद्र पांडेय, राहुल देव, सुभाष यादव, नीतीश कुमार, अमित पासवान, अजीत यादव, रमण यादव, नीलसागर यादव, मो रिजवान, नारद मुखिया आदि शामिल है.

Comments

Written by 

Related posts