Search

शहीद दिवस के पूर्व संध्या पर वैश्य समाज ने सहरसा के वीर सपूतों को दिया श्रद्धांजलि

सहरसा टाईम्स की रिपोर्ट —- स्वाधीनता संग्राम में अपने प्राणों की आहुति देने वाले अमर वीर सपूतों में बिहार का गौरवशाली इतिहास है ।यूँ कहें तो बिहार की धरती ही अमर बलिदानियों की रही है। लेकिन इस कड़ी में सहरसा की भी अग्रणी भूमिका रही है। 29 अगस्त 1942 को भारत छोडो आन्दोलन के दौरान सहरसा के छः वीर सपूतों ने... Read More

बिहार में सुरक्षित नहीं है महिलाओं की स्मिता – शरद यादव

सहरसा टाईम्स की रिपोर्ट—बिहार में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं रह गई है । मां बेटी बहन की स्मिता यहां सुरक्षित नहीं है । जब से नीतीश कुमार 11 करोड़ जनता के जनादेश का अपमान कर भाजपा की गोद में सत्ता सुख के लिए चले गए तब से कानून व्यवस्था खिलवाड़ बन गई है । राज्य सभा सांसद... Read More