Search

सहरसा में एम्स जैसे बड़े अस्पताल के लिए होगा महा-सत्याग्रह आंदोलन

सहरसा टाईम्स की रिपोर्ट— विगत वर्षों से सहरसा में एम्स जैसे अस्पताल का निर्माण हेतु अनगिनत कई संगठन निरंतर आंदोलनरत है। सहरसा जिला प्रशासन ने तो जमीन की उपलब्धता से सम्बंधित उच्चाधिकारियों को भी सूचित कर दिया है। फिर भी केन्द्र सरकार और राज्य सरकार की ओर से सहरसा को उपेक्षा की दृष्टि से देखा जा रहा है। 

गौरतलब है कि कोशी के सबसे चर्चित चेहरा श्री प्रवीण आनंद ने 14 सितंबर 2018 को आयुक्त कार्यालय सहरसा के सामने सुबह 11 बजे सहरसा में एम्स जैसे अस्पताल का निर्माण हेतु माह सत्याग्रह आंदोलन करने का घोषणा किया है।  इस मांग के समर्थन और सरकार के द्वारा इसके निर्माण में हों रहे बिलंब से ससंकित होकर एम्स निर्माण संघर्ष समिति ने महा-सत्याग्रह में सभी संगठनों, सभी जाति धर्म के लोगों को इस सत्याग्रह का हिस्सा बनने का घोषणा किया है ।

प्रवीणआनन्द ने कहा कि इस सत्याग्रह के अपार सफलता हेतु एवं कोशी प्रमंडल की धरती पर भारत के सबसे बड़े संस्थान एम्स के निर्माण हेतु संकल्पित इस महासत्याग्रह में हर सहरसावासी, कोशीवासी, मिथिलावासी, सीमांचल वासी, दल संगठन वर्ग से ऊपर उठकर अपनी जोङदार उपस्थिति देकर सरकार को बताने का प्रयास करें कि सहरसा एम्स निर्माण के सारे मापदंडों को जब पूरा करता है भूमि तक उपलब्ध करा दी गई है फिर यहां के वर्षों से उपेक्षित कोशी पीड़ित के लिए एम्स अभी तक क्यों नहीं मिल रहा है।

Written by 

Related posts