Search

दिनदहाड़े ताबड़तोड़ गोलीबारी से दहलता सहरसा

सहरसा टाइम्स की रिपोर्ट  —– बिहार में सरकार के सुशासन के तमाम दावों की हवा निकल रही है। सूबे के सभी जिलों में अपराधियों की बल्ले-बल्ले है। सूबे के सहरसा जिले की बात करें, तो यहाँ अपराधियों की समानांतर सरकार चल रही है। इस जिले में सबसे सस्ती चीज इंसानी जान है। सहरसा में अपराधी पूरी तरह से बेलगाम और बेखौफ हैं। सुशासन बाबू के शासन का तेवर सहरसा में पूरी तरह से खत्म हो गया है। अपराधी खुलेआम घटना दर घटना को अंजाम देकर पुलिस को रोज चुनौती पर चुनौती देते जा रहे हैं.

ताजा मामला बीते कल 12 जनवरी के दोपहर की है। सहरसा जिला मुख्यालय के शिवपुरी मुहल्ले में रंगदारी नहीं देने पर दिन-दहाड़े अपराधियों ने एक निजी स्कूल केरला बोर्डिंग स्कूल की संचालिका के साथ ना केवल जमकर मारपीट की बल्कि दहशत फैलाने की गरज से जमकर गोलीबारी भी की। फ़िलहाल पीडिता का इलाज अस्पताल में चल रहा है. 

स्कूल संचालिका के पति मुकेश कुमार ने कहा कि अपराधी शशि यादव मेरे स्कूल पर आया और डेढ़ लाख का डिमांड किया। हमारी पत्नी रिया जो स्कूल की प्रिंसिपल हैं और जो स्कूल भी चलाती है, उनके पास अभिभावक का दिया हुआ पैंतीस हजार रुपया था,जिसे उनकी पत्नी की जेब से अपराधियों ने निकाल लिए और जाते-जाते कहा कि सारा पैसा दे दो, नहीं तो गोली मार कर जान ले लेंगे।उन्होंने यह भी कहा कि सभी अपराधी हथियार के साथ आये थे और मैडम पर पिस्तौल तान दिया। मैडम किसी तरह वहां छिप गयी,जिस वजह से गोली ग्रिल पर लग गई। घटना को अंजाम देकर अपराधी वहां से आराम से फरार हो गए।

इस मामले में आज सदर एसडीपी प्रभाकर तिवारी ने कमान अपने कांधे पर ले ली ही। आज उन्होंने अपराधियों के कई ठिकानों पर छापेमारी की है और दो अपराधियों को गिरफ्तार भी किया है। मुख्य आरोपी शशि यादव फरार है जिसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम बनाकर छापामारी कर रही है ।

Comments

Written by 

Related posts