Search

कुछ पल में ही लाशों का अम्बार लग गया…

SAHARSA TIMES NEWS — पंजाब में अमृतसर में शुक्रवार शाम को रावण दहन देखने के लिए रेल पटरियों पर खड़े लोगों के ट्रेन की चपेट में आने से कम से कम 61 लोगों की मौत हो गई जबकि 72 अन्य घायल हो गए. कईयों की अब तक पहचान नहीं हो पाई है. शवों के क्षत-विक्षत होने की वजह से पहचान में भी काफी दिक्कत हो रही है. हादसों की वजह से लोगों में काफी गुस्सा है. वे भीषण हादसे के लिए प्रशासन को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं. इस बीच आज मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह भी घटना स्थल का दौरा करेंगे. देर रात केंद्रीय रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने घटनास्थल का दौरा किया था. 

कैसे हुआ हादसा?: अधिकारियों ने बताया कि रावण दहन और पटाखे फूटने के बाद भीड़ में से कुछ लोग रेल पटरियों की ओर बढ़ने लगे जहां पहले से ही बड़ी संख्या में लोग खड़े होकर रावण दहन देख रहे थे. उन्होंने बताया कि उसी वक्त दो विपरीत दिशाओं से एक साथ दो ट्रेनें आईं और लोगों को बचने का बहुत कम समय मिला. उन्होंने बताया कि एक ट्रेन की चपेट में कई लोग आ गए. इस घटना के बाद मौके पर चीख-पुकार मच गई, बदहवास लोग अपने करीबियों को तलाशने लगे. क्षत-विक्षत शव घटना के घंटों बाद भी घटनास्थल पर पड़े थे क्योंकि नाराज लोग प्रशासन को शव हटाने नहीं दे रहे थे. कई शवों की पहचान भी नहीं हो सकी. जमीन पर क्षत-विक्षत शव पड़े हुए थे.

Written by 

Related posts