Search

रालोसपा ने मनाया ज्योतिबा फुले की पुण्यतिथि

सहरसा टाईम्स की रिपोर्ट — महान संत महात्मा ज्योतिबा फुले की पुण्यतिथि के अवसर पर सहरसा के शंकर चौक स्थित ठाकुरबाड़ी परिसर में राष्ट्रीय लोक समता पार्टी द्वारा ऊँच नीच विरोध दिवस मनाया गया। इस अवसर पर रालोसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह केंद्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा द्वारा शुरू किए गए शिक्षा सुधार, जन जन का अधिकार अभियान के तहत हस्ताक्षर अभियान चलाया गया। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता रालोसपा के जिलाध्यक्ष श्री चंदन बागची ने किया।

इस मौके पर शिवेंद्र कुमार जिशु ने कहा कि ज्योतिबा फुले देश के महान संत थे और उन्होंने अपनी पूरी उम्र सामाजिक गैर बराबरी को खत्म करने में लगा दिया। ‘ज्‍योतिबा फुले’ (Jyotiba Phule) ने महिलाओं और दलितों के उत्थान के लिए के लिए अनेक कार्य किए थे. ज्‍योतिबा फुले भारतीय समाज में प्रचलित जाति पर आधारित विभाजन और भेदभाव के विरुद्ध थे. स्त्रियों की दशा सुधारने और समाज में उन्‍हें पहचान दिलाने के लिए उन्‍होंने 1854 में एक स्‍कूल खोला. यह देश का पहला ऐसा स्‍कूल था जिसे लड़कियों के लिए खोला गया था.  लड़कियों को पढ़ाने के लिए अध्यापिका नहीं मिली तो उन्होंने कुछ दिन स्वयं यह काम करके अपनी पत्नी सावित्री को इस योग्य बना दिया. उनके प्रयासों से ही महिलाओं में शिक्षा के प्रति जागृति आयी। उन्होंने हमेशा मानव कल्याण और मानव सेवा की बात कही। साथ ही उसपर अमल भी किया। ऐसे महान लोग हमारे आदर्श हैं और आज उनके बताए रास्ते पर हमें भी चलना चाहिए। इसी क्रम में सामाजिक ऊंच नीच को दूर करने के लिए एवं शिक्षा सुधार जन जन का अधिकार को लेकर रालोसपा ने यह हस्ताक्षर अभियान चलाया है। आप सबों से करबद्ध आग्रह कि आप भी इस मुहिम से जुड़े और समरस समाज के निर्माण में भागीदार बनें।

इस मौके पर रालोसपा नेता सह मुखिया शिवेंद्र कुमार जिशु, राज्य परिषद सदस्य बिंदेश्वरी मेहता जी, महिला जिला अध्यक्ष सोनी भारती कुशवाहा, प्रधान महा सचिव गौरव सिंह छात्र जिला अध्यक्ष शंकर मंडल, जिला महा सचिव अमरेन्द्र कुमार रवि,जिला उपाध्यक्ष गोपाल तिवारी,जिला उपाध्यक्ष सुधीर खाँ, युवा प्रदेश सचिव शशांक विक्की, मोहम्द चाँद, समेत बड़ी संख्या में लोग उपस्थित रहे है।

Written by 

Related posts