Search

सहरसा राजद विधायक पुत्र ने दलित महिला को बेरहमी से पीटा

सहरसा राजद विधायक अरुण कुमार यादव की दबंगई के किस्से हुए पुराने
दबंगई की कमान अब विधायक पुत्र ने संभाली
दलित महिला को बेरहमी से पीटा,आईसीयू में भर्ती
बिजली के वायर से दलित महिला को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा
उधर राजद विधायक अरुण कुमार यादव पटना में तेजस्वी यादव के खास कार्यक्रम में नींद का मजा लेते रहे
सहरसा से संकेत सिंह की रिपोर्ट : सहरसा के राजद विधायक अरुण यादव के सहरसा जिला मुख्यालय स्थित आरण हाउस की दबंगई के किस्से अभी पुराने भी नहीं हुए थे कि उनके पुत्र ने सहरसा जिले के उनके पैतृक गांव आरण में दबंगई का एक नया कीर्तिमान बना डाला ।घटना के बाबत मिली जानकारी के मुताबिक बीते कल यानि 19 जुलाई को धान रोपनी में विलम्ब से पहुँची दलित महिला मीरा देवी को विधायक पुत्र ने भरपूर गाली-गलौज की ।इस अचानक के अपमान से मीरा देवी तिलमिला गयी और नाराज होकर,काम छोड़कर चली गई ।
बात खत्म हो गयी लेकिन आज वह महिला विधायक की खेत पर नहीं जाकर दूसरे रैयत की जमीन पर काम करने चली गयी ।दूसरे की खेत में कर रही उस महिला को देख विधायक पुत्र आग-बबूला हो गए और अपना आपा खोकर बिजली के वायर से दलित मसोमात मीरा देवी को बेरहमी से दौड़ा-दौड़ा पीटा ।इस पिटाई से गम्भीर रूप से जख्मी हुए महिला को एक निजी नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया है जहां वह महिला जिंदगी और मौत से जूझ रही है ।मीरा देवी को निजी नर्सिंग होम के आईसीयू में भर्ती कराया गया है । 
इस मामले में हमने बिहरा थानाध्यक्ष सुमन कुमार से बातचीत की ।उन्होंने कहा कि घटना की उड़ती सूचना उनतक पहुंची है लेकिन सहरसा से पीड़िता का बयान अभीतक उनके पास नहीं पहुँचा है ।बयान के आधार पर कांड अंकित कर फिर वे अग्रतर कारवाई करेंगे ।वैसे विधायक के बेटे पर कोई कारवाई असम्भव है ।

जाहिर सी बात है कि इस मामले में भी ग्रामीण पंचायत से ही फलाफल निकलेगा । इधर इस घटना से पूरे इलाके में सनसनी है ।उधर पटना में राजद के एक खास कार्यक्रम में तेजस्वी यादव अपनी पार्टी के विधायकों और पदाधिकारियों को संबोधित कर रहे थे । उस कार्यक्रम में सहरसा के राजद विधायक अरुण कुमार यादव भी मौजूद थे ।लेकिन तेजस्वी प्रलाप कहें या टिप्स से उन्हें कोई सरोकार नहीं था और वे गहरी नींद में सोए हुए थे ।अब जब बिहार प्रतिपक्ष के नेता के संबोधन को सुनने की जगह विधायक जी सोकर सलटा रहे हों,उन्हें क्या कहा जायेगा ?लगता है कि बेटे की काली करतूत की भनक उन्हें लग गयी और बेटे के करिश्में पर खुश होकर वे सुकून की नींद ले रहे थे ।

Written by 

Related posts