Search

बिहार में सुरक्षित नहीं है महिलाओं की स्मिता – शरद यादव

सहरसा टाईम्स की रिपोर्ट—बिहार में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं रह गई है । मां बेटी बहन की स्मिता यहां सुरक्षित नहीं है । जब से नीतीश कुमार 11 करोड़ जनता के जनादेश का अपमान कर भाजपा की गोद में सत्ता सुख के लिए चले गए तब से कानून व्यवस्था खिलवाड़ बन गई है । राज्य सभा सांसद एवं लोकतांत्रिक जनता दल के संरक्षक शरद यादव ने एक बयान जारी कर पिछले दिन सहरसा में एक युवती के साथ छेड़छाड़ की घटना के वीडियो वायरल होने की घोर निंदा की है ।

उन्होंने कहा है कि इससे शर्मनाक और निंदनीय बात कुछ नहीं हो सकती है । कानून के रखवाले अपराधियों को पनाह दे रहे हैं । अपराधियों के ऊपर कारवाई के बदले सरकार के मुखिया झूठी बयानबाजी और वाहवाही लुटने में लगे हुए हैं । मुजफ्फरपुर पटना बालिका गृह में हुए घटना शासन-प्रशासन की सच्चाई को खोल दिया है ।

नालंदा गया मधुबनी कैमूर जहानाबाद रोहतास सासाराम तथा आरा में हुई घटनाएं पूरे बिहार की कानून व्यवस्था की स्थिति को बयां कर रही है । कानुन का खौफ अपराधियों पर नहीं रह गया है । जिस राज्य में मां बेटी बहन की इज्जत आबरु की रक्षा सरकार नहीं कर पाती है उस राज्य के मुखिया को बने रहने का कोई हक नहीं है । दोषी को सख्त से सख्त सजा दिए जाने की मांग सांसद शरद यादव एवं लोजद जिला अध्यक्ष धनिकलाल मुखिया ने की है । उक्त बयान सहरसा जिला लोजद अध्यक्ष श्री धनिक लाल मुखिया के हवाले से जारी की गई है

Written by 

Related posts